फायर इंजीनियरिंग ( Fire Engineering fire Science Hindi )


फायर इंजीनियरिंग

         ( फायर विज्ञान )
  • रसायन विज्ञान (Chemistry)
  • आग (Fire)
  • प्राथमिक आग बुझाने के उपकरण (Primary fire extinguishing equipment)
  • एक्सटिंग्यूशर (Extinguisher)
  • होज (Hose)
  • होज फिटिंग्स (Hose Fitting)
  • पम्प और  प्राइमर (Pump and Primer)
  • वाटर रिलेइंग (Water Relaying)
  • फिक्सड इन्सटालेशन (Fixed installation)
  • फायर हाइडेªन्ट (Fire hydrant)
  • वाटर स्प्रिंकलर सिस्टम (Water sprinkler system)
  • मैकेनिकल फोम (Mechanical foam)
  • फायर फायटिंग के उपकरण व फायर टंेडर  (Appliances of firefighting and fire tender)
  • फायर फाइटिंग दिशा निर्देश  (Firefighting commands)
  • प्राथमिक चिकित्सा (First aid)
  • स्टै.डर्ड टेस्ट   ( Stander Test)

प्रकाशन

            फायर इंजीनियरिंग की इस नवीनतम् पुस्तक में आग बुझाने  के विभिन्न उपकरणों और उपायों का क्रमश; सचित्र, सरल एवं रोचक भाषा में वर्णन किया गया, साथ ही एक श्रेष्ठ फायर फायटिंग हेतु पर्याप्त आवश्यक दिशा निर्देश मय प्राथमिक उपचार के दिए गए हैं। इसमें फायर इंजीनियरिंग की शिक्षा को हिन्दी माध्यम द्वारा प्रस्तुत किया गया है। फायर का ज्ञान आज के युग में औद्योगिक इकाइयों व भवनों में सामान्य जन के लिये भी अति आवश्यक है, इस पुस्तक द्वारा आग बुझाने वाले सभी उपकरणों और उपायों का बड़ी सरलता के साथ वर्णन किया गया है।
                     तकनिकी शिक्षा की अधिकांशतः पुस्तकें अंग्रेजी भाषा में मुद्रित होने से भारतीय हिन्दी भाषी विद्यार्थी पूर्ण आत्म सन्तुष्टि नहीं पा सकते हैं। प्रत्येक मातृभाषा की अपनी एक अनूठी आत्मीयता होती है। जिसकी तुलना मात्र माँ के प्यार से ही की जानी सम्भव है। वर्षो से जिस भाषा के माध्यम से अध्ययन कार्य सम्पन्न किया, फिर यदि एकाएक तकनीकी शिक्षा के कारण माध्यम बदलता है तो अधिगम प्रकिया निश्चित रूप से प्रभावित होगी। धीरे धीरे भाषा के साथ सांमजस्य स्थापित होता है, ठीक उसी प्रकार जैसे  किसी ग्रामीण का शहरीकरण होता है ।
                    यह बदलाव भी एलोपैथिक ट्रिटमेंट की तरह होता है।जब नवीन तकनीकी भाषा सुचारू रूप से अपनी अहम भूमिका नहीं निभा पाती, तब प्रतिभाएं पिछड़ जाती है। ऐसी ही विषम परिस्थितियों को म़द्देनजर रखते हुए दोनों नवोदित नवयुवक लेखक “रविराज सिंह राठौड़ एवं चन्द्रशेखर चंगेरिया “ ने यह पुस्तक ‘फायर इंजीनियरिंग‘ की सरल हिन्दी भाषा में  रचना करते हुए निःसंदेह सराहनीय कार्य किया।
                   नवीवतम् जानकारियों से युक्त, सरल, स्पष्ट, रोचक और सचित्र यह पुस्तक अवश्य ही लाखों हिन्दीभाषी विद्यार्थियों के लिए उपयोगी होगी।
इन्हीं शुभकामनाओं के साथ यह पुस्तक आज आपके कर -कमलों को सुवासित कर रहे हैं।


 ‘चेतन प्रकाशन‘
http://1.bp.blogspot.com/-AG26eeOSfWM/VA2jLGiJgUI/AAAAAAAAD-Q/Zf_HJ47Dy1c/s1600/fire%2Bsince.jpg
Oder Now

कोई टिप्पणी नहीं: